गौतम बुद्ध कल्चरल एंड वेलफेयर ट्रस्ट

Gautam Buddha Cultural And Welfare Trust

 

गौतम बुद्ध कल्चरल एंड वेलफेयर ट्रस्ट एक सामाजिक संस्था है. गौतम बुद्ध नगर (ग्रेटर नोएडा) में रहने वाले अम्बेडकरवादियों और धम्म अनुयायियों द्वारा इस संगठन को चलाया जा रहा है. गरीब एवं वंचित समाज के प्रतिभाशाली बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में मदद करना एवं समाज के बीच सांस्कृतिक उन्नति के लिए काम करना इस संगठन का उद्देश्य है.

संगठन महामानव तथागत बुद्ध के सिद्धांतों पर चलकर धम्म प्रसार में भी सक्रिय है. साथ ही बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर और उनके मिशन के बारे में समाज के बीच लोगों को जानकारी दी जाती है. संगठन के केंद्र में युवा हैं. संस्था युवाओं को बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर के जीवन संघर्ष के बारे में जानकारी देती है. संस्था युवाओं का शिक्षा के क्षेत्र में मार्गदर्शन करती है और उनके लिए समय-समय पर करियर काउंसलिंग का आयोजन किया जाता है. प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले युवाओं के लिए फ्री कोचिंग की व्यवस्था भी संस्था द्वारा किया जाता है.

पता- F-33, Kadamba Shopping Complex, Gamma-1, Greater Noida, UP

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


समाजसेवा के क्षेत्र में मानक स्थापित कर रहा है गौतम बुद्ध कल्चरल एंड वेलफेयर सोसाइटी


समाजसेवा का दम भरते हुए संस्था बनाना आज के दौर में फैशन बन गया है. हर कोई एनजीओ के माध्यम से देश को सुधारने की वकालत करता है. लेकिन सही में काम करने वाले संगठन बहुत कम ही होते हैं. दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में महामानव गौतम बुद्ध के नाम पर गठित गौतम बुद्ध कल्चरल एंड वेलफेयर सोसाइटी को आप काम करने वाले संगठन की श्रेणी में रख सकते हैं. सन् 2004 में अपने गठन के बाद से अब तक संस्था ने कई कीर्तिमान स्थापित किया है. हाल ही में संस्था ने ‘चलो गांव की ओर’ नाम से एक कार्यक्रम लांच किया है, जिसके तहत संगठन के सदस्य गांवों में गरीब और वंचित तबके के बीच जाकर उन्हें शिक्षा और स्वास्थ के लिए ना सिर्फ जागरूक कर रहे हैं, बल्कि सीधे तौर पर उनकी मदद भी कर रहे हैं. हाल ही में बीते 9 अगस्त को संस्था ने जिले भर के 10वीं और 12वीं कक्षा के सामान्य, अति पिछड़े और अनुसूचित जाति श्रेणी के सभी मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित कर उनमें शिक्षा के प्रति आगे बढ़ने की ललक जगाई है.


गांवों में आमतौर पर लोग लड़कियों को 12वीं के बाद या तो धनाभाव में या फिर सामाजिक सुरक्षा के डर से उच्च शिक्षा देने से परहेज करते हैं. मेधावी छात्राओं के सम्मान के जरिए संस्था ऐसे परिवारों को जहां लड़कियों को उच्च शिक्षा देने के लिए प्रेरित कर रहा है तो वहीं उनकी आर्थिक दिक्कतों को दूर करने के लिए भी आगे आ रहा है. संस्था के प्रमुख सदस्य आर.के देव सोसाइटी के मुख्य उद्देश्यों के बारे में पूछने पर कहते हैं कि “विभिन्न क्षेत्रों के; विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों के मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया जाना, किसी भी वजह से स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों के अभिभावकों से मिलकर उनको शिक्षा का महत्व बताना और बच्चों को दुबारा स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करना हमारे मुख्य उद्देश्यों में शामिल है. साथ ही 12वीं कक्षा के छात्र-छात्राओं को कैरियर बनाने की दिशा में सूचनाएं मुहैया कराना (कैरियर काउंसिलिंग) एवं स्नातक और स्नातकोत्तर छात्रों को अपने क्षेत्र में सफल एवं कुशल व्यक्तियों के माध्यम से सूचना मुहैया कराना भी संस्था के उद्देश्य में शामिल है.” संस्था की खास बात इसके सदस्यों का सक्रिय योगदान है. इसके तमाम सदस्य अपने निजी पेशे में सक्रिय रहते हुए हर हफ्ते एक दिन समाज सेवा के लिए प्रतिबद्ध हैं. इस दौरान गांवों में लोगों के बीच जाकर जागरूकता कार्यक्रम चलाना, हेल्थ कैम्प लगाने सहित जरूरतमंदों की मदद करना शामिल है. फिलहाल 100 से ज्यादा लोग सक्रिय रूप से संस्था के नियमित कार्यक्रमों से जुड़े हुए हैं, जो गांव-गांव जाकर युवाओं, महिलाओं, लड़कियों और पढ़ने वाले लड़के-लड़कियों के बीच जाकर उनको जागरूक करते हैं.


इस दौरान महामानव तथागत बुद्ध, संविधान निर्माता बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर सहित सामाजिक आंदोलन के तमाम महापुरुषों के बारे में भी अवगत कराया जाता है. हाल ही में जिला गौतम बुद्ध नगर के दादूपुर गांव में गौतमबुद्ध कल्चरल वेलफेयर सोसाइटी ने चलो गांव की ओर कार्यक्रम के तहत ग्रामीणों को जागरुक करने का कार्यक्रम चलाया. इस कार्यक्रम के तहत ग्रामीणों को अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देने और साफ-सफाई का विशेष ध्यान की बात कही गई. सोसाइटी के सदस्यों ने बताया कि किस तरह डॉक्टर अम्बेडकर ने गरीबी में अच्छी शिक्षा हासिल की और देश हित के लिए काफी काम किया. इस दौरान सोसाइटी के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि बच्चों को बचपन से ही अच्छी शिक्षा और संस्कार देना आवश्यक है. सक्रिय सदस्य नरेन्द्र सिंह ने कहा कि बच्चों को आदर्श महापुरुषों के बारे में बताना चाहिए ताकि वह उन्हीं की तरह बनने का प्रयास करें. इस दौरान लड़कियों की शिक्षा पर भी बल दिया गया. इस मौके पर निःशुल्क स्वास्थ जांच शिविर का भी आयोजन किया गया और जरूरतमंदों को मुफ्त में दवाइयां दी गई. इस दौरान टीम के सदस्य मेहरचंद, भीम सिंह, करण सिंह, सुनीता सिंह, सुभाष चंद्र, आरके देव, नरेश गौतम, डॉ. व्यास, नरेन्द्र सिंह, डॉ. पटोनिया आदि उपस्थित थे.


तो वहीं सोसाइटी द्वारा 9 अगस्त को आई.ई.सी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में जिले के राजकीय एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों के वर्ष 2015 में 10वीं एवं 12वीं कक्षा में उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले सामान्य, अति पिछड़ा वर्ग एवं अनुसूचित जाति वर्ग के मेधावी छात्रों को सम्मानित किया गया. सम्मान समारोह में ग्रेटर नोएडा के विभिन्न स्कूलों के लगभग 250 मेधावी विद्यार्थियों एवं प्रधानाचार्यों को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जे.सी. आदर्श (रिटा. पीसीएस) एवं विशिष्ट अतिथि प्रो. राजकुमार (दयाल सिंह कॉलेज, दिल्ली विवि) थे. आई.ई.सी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट की तरफ से डायरेक्टर डी.पी. सिंह भी विशेष उपस्थित लोगों में शामिल थे. अन्य उपस्थित अतिथियों में उदयवीर सिंह (रिटा. डीआईजी), सुशील महाराज, यादराम सिंह (रिटा. जज) व डॉ. बी.पी. सिंह उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन संगठन के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह ने किया.


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


आपसी सौहार्द बढ़ाने के लिए विभिन्न धर्मों का वर्कशाप

गौतम बुद्धा कल्चरल एंड वेलफेयर ट्रस्ट एवं मिशन पे बैक टू सोसाइटी के संयुक्त तत्वाधान में विभिन्न धर्मों के लोगों ने आपसी भाईचारा और सौहार्द बढ़ाने के लिए 10 जुलाई, रविवार को एक वर्कशाप का आयोजन किया. ग्रेटर नोएडा के गामा सेक्टर स्थित जगत फार्म में हुई इस बैठक के दौरान सभी वर्गों के भीतर व्याप्त समस्याओं के सामाधान पर चर्चा की गई. खास तौर पर शिक्षा, सफाई, रोजगार एवं महिलाओं के अधिकारों पर चर्चा हुई.

----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


वीरेंद्र सिंह बने गौत्तम बुद्ध नगर के बामसेफ संयोजक

नई दिल्ली। गौतम बुद्ध कल्चरल एण्ड वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह को गौतम बुद्ध नगर जिले का बामसेफ संयोजक चुना गया है. जबकि लाल सिंह गौतम को बामसेफ ने  गौतम बुद्ध नगर का जिलाध्यक्ष बनाया है. वीरेंद्र सिंह बहुजन समाज और बौद्ध अनुयायीयों की सेवा में पिछले कई वर्षों से तत्पर हैं. वीरेंद्र सिंह ने दलित चेतना और बौद्ध उत्थान के लिेए अहम योगदान दिया है. इसके परिणाम स्वरूप ही उनकों यह पदभार सौंपा गया है. गौतम बुद्ध कल्चरल एण्ड वेलफेयर ट्रस्ट वंचित और गरीब समाज की प्रतिभाओं को निखारने पर ज्यादा जोर देती है.


----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------


भव्य कार्यक्रम में गौतम बुद्धा कल्चरल एंड वेलफेयर ट्रस्ट ने किया मेधावी विद्यार्थियों का सम्मान


गौतम बुद्धा कल्चरल एंड वेलफेयर ट्रस्ट, ग्रेटर नोएडा द्वारा रविवार 25 सितंबर को एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन कर मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया. इस कार्यक्रम के तहत गौतम बुद्ध नगर जिले के सरकारी एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों के वर्ष 2016 में 10वीं एवं 12वीं में उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले सामान्य, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं अनुसूचित जाति/जनजाति के मेधावी छात्रों को सम्मानित किया गया. मेरिट में रहने वाले विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह दिया गया.


कार्यक्रम का आयोजन कासना स्थित सावित्रीबाई फुले बालिका इंटर कॉलेज में हुआ. कार्यक्रम के मार्गदर्शक जे.सी. आदर्श थे. जबकि अन्य अतिथियों में जेएनयू के भारतीय भाषा केंद्र के अध्यक्ष अनवर पासा और जेएनयू के ही प्रोफेसर रामचंद्र मौजूद थे. मंचासीन अन्य लोगों में सावित्रीबाई फुले इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल रीमा डे, ललित विक्रम और दलित दस्तक के संपादक अशोक दास मौजूद थे. मुख्य अतिथि के तौर पर पूज्य भंते चन्दिमा इस कार्यक्रम में मौजूद थे. 


अपने संबोधन के दौरान मुख्य अतिथि भंते चन्दिमा ने विद्यार्थियों को एक अच्छा इंसान बनने की प्रेरणा दी. साथ ही उन्होंने कहा कि विश्व में महाविद्यालयों की परंपरा तथागत बुद्ध ने शुरू की थी. और बौद्धकालीन वक्त में नालंदा विश्वविद्यालय और तक्षशिला विश्वविद्यालय इसके उदाहरण हैं. वहीं जे.सी आदर्श ने कहा कि शिक्षा बहुत जरूरी है, क्योंकि अगर शिक्षा नहीं है तो तार्किकता नहीं आएगी. उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि भगवान बुद्ध के बताए रास्ते पर चलें क्योंकि तथागत ने जो करुणा का संदेश दिया है, समाज उसी से निर्मित हो सकता है. कार्यक्रम को आर.के. देव, प्रो. रामचंद्र, अनवर पासा और मुन्नी भारती ने भी संबोधित किया. प्रो. पासा ने अपने संबोधन में वंचित समाज को पढ़ाई-लिखाई में आगे आने के लिए प्रेरित किया. उन्होंने विशेषकर महिला शिक्षा पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि महिलाओं  के शिक्षित हुए बिना समाज आगे नहीं बढ़ पाएगा. 


ट्रस्ट के सदस्य आर.के देव ने विद्यार्थियों को भविष्य की शुभकामनाएं दी और कहा कि गौतम बुद्ध कल्चरल और वेलफेयर ट्रस्ट मेधावी छात्रों के भविष्य को संवारने की दिशा में हमेशा काम करते रहेंगे. इससे पहले कार्यक्रम की शुरुआत बुद्ध वंदना से की गई. कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट उपलब्धि हासिल करने वाले युवाओं को भी स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. कार्यक्रम का संचालन ट्रस्ट के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह और सुभाष चंद्रा ने संयुक्त रूप से किया.


इस भव्य कार्यक्रम में संस्था के तमाम पदाधिकारी मौजूद थे और उन्होंने कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना पूरा सहयोग दिया और जिम्मेदारी संभाली. ट्रस्ट के मार्गदर्शक जे.सी आदर्श और मुख्य अतिथि भंते चन्दिमा ने गौतम बुद्धा कल्चरल एंड वेलफेयर ट्रस्ट के सदस्यों की इस समाजसेवा और मेधावी विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने के नेक काम के लिए सराहना की. साथ ही ट्रस्ट के अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह को स्मृति चिन्ह देकर पूरी टीम को संयुक्त रूप से सम्मानित किया. कार्यक्रम में मौजूद अन्य प्रमुख व्यक्तियों में विनेश गौतम, खजान सिंह, श्याम सुंदर, वृंदावन सिंह गौतम, मनीष कुमार, नितिल कुमार, संजय कुमार, सुशील वर्मा, महासचिव मेहरचंद आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे.



There is no News....

Journey of Dalit Dastak

Opinion

View More Article